सार का पर्यावाची शब्द | Sar Ka Paryayvachi Shabd

दोस्तों आज हम सार का पर्यावाची शब्द (Sar Ka Paryayvachi Shabd)  हिन्दी तथा अंग्रेजी में जानेगें। परिक्षा की दृष्टि से पर्यावाची बहुत ही महत्वपूर्ण है। इससे पहले भी हमने बहुत सारे पर्यावाची शब्दों का अध्ययन किया है। पर्यावाची शब्द का अर्थ- एक समान अर्थ देने वाले शब्द अर्थात समानर्थी शब्दों को पर्यावाची कहते हैं।

सार का पर्यावाची शब्द | Sar Ka Paryayvachi Shabd

सार का अर्थ : जब किसी बात को एक शब्द में कहा जाए या किसी बात का अंतिम परिणाम सार कहलाता है।

सार का पर्यावाची शब्द | Sar Ka Paryayvachi Shabd

सार

निचोड़

आशय

सत

सारांश

सारतत्व

सत्व

अंतिम परिणाम

परिणाम

भाव

निष्कर्ष

तात्पर्य

अर्क

मूलतत्व

मूलअंश

सार का अंग्रेजी में पर्यावाची

Summary

Outline

Brief

Sum

Roundup

Short

“स” वर्ण से शुरू होने वाले अन्य पर्यावाची

  • सर्प – उरग, अहि, विषधर, भुजंग, सरीसृप, पन्नग, व्याल फणी ।
  • सिंह – शेर, सारंग, मृगारि, नाहर, बाहुबल, केशी, केशरी, भृगराज, वनराज, केहरि, शार्दूल, हरि, वनहरि, नरवरायुध।
  • स्तन – जीवन, पयोधर, उरस, कुच, छाती, उरोज।
  • सीता – जनकतनया, जानकी, जनककिशोरी, जनकसुता, वैदेही, भूमिजा।
  • सम्राट – महाराजा, राजाधिराज, शहंशाह, अधिपति।
  • संहार – बर्बादी, नाश, समाप्ति, ध्वंस, अंत।
  • संस्थापक – मूलकर्ता, संचालक, प्रवर्तक।
  • समूह – टोली, संघ, समुदाय, गण, समुच्चय, निकर, वृंद, दल, झुण्ड, जत्था, निकाय, पुंज, राशि।
  • सारंग – कुरंग, चितकबरा, सरस, हाथी, मृगा, कोयल, कबूतर, सिंह, सरस, सुन्दर, हिरण, चारुलोचन, चितकबरा, धनुष, बाण, रसीला
  • सोना – हेम, जातरूप, कंचन, स्वठी, कनक, हिरण्य, घाटक जातक, सुवर्ण, रुक्म, कनक, पुष्कल, चामीकर
  • स्वर्ग – देवलोक, सुरलोग, सुरपुर, बैकुंठ, द्वौ, इन्द्रपुरी, दिव, परमधाम, परलोक ।
  • समुद्र – सिन्धु, सागर, अकूपाद, तोयनिधि, नीरधि, पयोधि, वारीश, जलधाम, अर्णव, अब्धि, रत्नाकर, वारिधि, पयोनिधि, पारावार, नदीश, सागर, उदधि, जलधि।
  • संसार – जगत, जग, दुनिया, इहलोक, विश्व ।
  • सरस्वती – वीणापणि, वीणा, शारदा, भारती, वीणापति, गिरा , ब्राह्मी, भाषा, इला, वागेश्वरी, श्री, महाश्वेता, वागीश, निधात्री, कादंबरी, वागिवधाती, परमेष्ठिनी, ज्ञानदा, कश्मीरपुरवासिनी, मेधाविनी, ब्रहमणी, ब्रहमसुता, हरिद्रा, हल्द, महाषष्ठी, मेधाविनी।

पर्यावची शब्द की परिभाषा (Paryayvachi Shabd Ki Paribhasha)

समान अर्थ बताने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द कहा जाता है। पर्यायवाची शब्द को तीन भागों में बांटा जा सकता है-

1. पूर्ण पर्याय 

वाक्य में यदि एक शब्द के स्थान पर दूसरा शब्द रखा जा सके और अर्थ में कोई अंतर न पड़ता हो, तो यह उसका पूर्ण पर्याय है। जैसे- जलज, वारिज।

2. पूर्णापूर्ण पर्याय 

जो एक तरह से तो पूर्ण पर्याय हो, किंतु दूसरे प्रसंग में समानार्थक न रह पाए जैसे- फोटो टांगना के स्थान पर फोटो लटकाना कह दें तो वही अर्थ प्राप्त होता है, परंतु ”वह मुंह लटकाए बैठा है” के स्थान पर वह “मुंह टांगे बैठा है” नही कह सकते।

3. अपूर्ण पर्याय

समानार्थक शब्द होते हुए भी अर्थ अलग- अलग हो।


अन्य महत्वपूर्ण लेख –

»दुःख का पर्यावाची शब्द | Dukh Ka Paryayvachi Shabd

»200 vilom shabd | दो सौ विलोम शब्द

»लक्ष्मी का पर्यावाची शब्द | Lakshmi Ka Paryayvachi Shabd


सार के पर्यावाची शब्द से बनने वाले वाक्य –

  1.  कल मेरी परिक्षा का अंतिम परिणाम आयेगा।
  2.  तुम्हारी बात का आशय क्या है।
  3.  पूरे वाक्य का सारांश क्या होगा।
  4.  इन बातों का कोई निचोड़ नही है।
  5. श्री कृष्ण ने अर्जुन को जीवन के सार का ज्ञान दिया।
  6. 2023 विश्वकप के अंतिम परिणाम में भारत हार गया।
  7. कही गई बातों का कुछ आशय होना चाहिए।
  8. कर्म करना चाहिए. परिणाम की चिंता नही करनी चाहिए।
  9. जीवन का सारतत्व ज्ञान है।

FAQ

Que- सार का पर्यायवाची शब्द क्या है?

सार, निचोड़, आशय, सत, सारांश, सारतत्व, सत्व, अंतिम परिणाम, परिणाम, भाव, निष्कर्ष, तात्पर्य, अर्क, मूलतत्व, मूलअंश।

Leave a Comment